Categories: देश

मोदी सरकार द्वारा निर्मित स्टेचू ऑफ़ यूनिटी भारत के सभी पर्यटक स्थलों में कमाई में सबसे ऊपर

स्मारक: “स्टेचू ऑफ यूनिटी”ने नया मुकाम हासिल कर लिया है देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी इसका जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। जिसका नतीजा यह है कि “स्टेचू ऑफ यूनिटी” देश के श्रेष्ठ 5 स्मारकों में से सबसे ज्यादा कमाई करने वाला स्मारक बन गया है। इतना ही नहीं कमाई के मामले में इसने दुनिया के सातवें अजूबों में शामिल ताजमहल को भी पीछे छोड़ दिया है।
गुजरात के केवाडिया में सरदार सरोवर बांध के पास स्थापित की गई लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर की आदमकद प्रतिमा “स्टेच्यू ऑफ यूनिटी” ने कमाई के मामले में नया रिकॉर्ड बनाया है। इस मामले में उत्तर प्रदेश के आगरा में मौजूद पर्यटक स्थल ताज महल पिछड़ गया है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, स्टेच्यू ऑफ यूनिटी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बन गई है। 31 अक्तूबर को सरदार पटेल की जयंती पर स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के आम जनता के दर्शनार्थ खुलने की पहली वर्षगांठ पूरी हो गई। इस एक साल की अवधि में टिकट की व्यवस्था संभालने वाले सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय एकता ट्रस्ट ने रिकॉर्ड 63.39 करोड़ रुपये की कमाई की है। जबकि इसी अवधि में ताजमहल को 56 करोड़ रुपये की कमाई हासिल हुई है।

टिकट बेचे जाने के मामले में यह आंकड़ा ताजमहल समेत देश के अन्य पांच ऐतिहासिक-स्थापत्य की दृष्टि से महत्वपूर्ण स्मारकों में सबसे अधिक है। हालांकि पर्यटकों के पहुंचने के मामले में ताजमहल अब भी अव्वल है। ताजमहल को देखने के लिए जहां 64.58 लाख लोग पहुंचे। वहीं एक साल में स्टेच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए करीब 24 लाख लोग पहुंचे। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (आर्कियोलॉजिकल सर्वेक्षण ऑफ इंडिया) की हाल ही जारी रिपोर्ट के अनुसार, देश और विश्व भर के पर्यटकों को आकर्षित करने में ताजमहल अव्वल है इसी सूची में क़ुतुब मीनार, आगरा किला, लाल किला, फतेहपुर सीकरी भी शामिल है।

Leave a Comment