लंदन में रहते हुए भी नहीं भूले भारत की परंपरा, परिवार संग करते हे छठ पूजा

भारतीय लोगों ने अपनी काबिलियत के दम पर एक अलग पहचान बनाई है। कई भारतीय विभिन्न देशों में नौकरी कर रहे हैं या व्यापारी है। आज भी कई भारतीय विदेशों में रहते हुए भी अपने धर्म परंपरा और रीति-रिवाजों का पूरी ईमानदारी के साथ पालन करते हैं। यह कहानी है बिहार के रहने वाले हैं धनंजय मिश्रा की जो अपनी पत्नी नीता मिश्रा के साथ कई साल पहले इंग्लैंड के लंदन शहर में पहुंचे थे। लेकिन फिर भी छठ पूजा करते है।

छठ के इस पावन त्यौहार पर धनंजय मिश्र ने यह बताया कि उनकी पत्नी नीता मिश्रा प्रतिवर्ष छठ की पूजा करती हैं। उन्होंने बताया कि लंदन में रहने वाले कई भारतीय छठ के व्रत में एक साथ शामिल होते हैं। आज से करीब 14 वर्ष पहले पति धनंजय मिश्र जोकि बगहा के पटखौली मैं रहते थे अपनी पत्नी नीता मिश्रा के साथ लंदन चले गए थे। धनंजय मिश्र लंदन में टेक्नोटेक के बोर्ड मेंबर पद पर कार्य करते हैं फिर भी अपने जन्म प्रदेश की परंपरा को पूर्ण रूप से निभाते हैं।

10 वर्षो से निरंतर कर रही है व्रत

छठी मैया का बहुत प्रभाव है लंदन में बसी नीता मिश्रा ने बताया कि उन्होंने छठी मैया से यह प्रार्थना की थी की उनके पुत्र के जन्म होने पर सब कुछ ठीक रहा तो वह 5 वर्ष तक छठी मैया के व्रत पूरी श्रद्धा से करेंगी। पिछले 10 वर्षों से नीता मिश्रा छठी मैया के व्रत कर रही है और इस व्रत में पूरा परिवार शामिल होता है और सहयोग करता है। नीता मिश्रा ने बताया कि आप को ऐसा लग रहा होगा कि शायद लंदन में छठ व्रत के लिए जरूरी सामग्री मिल भी पाती होगी या नहीं लेकिन मैं आपको बताऊं लंदन में छठ व्रत के लिए जो भी जरूरी सामग्री है वह बहुत आसानी से उपलब्ध हो जाती है। उन्होंने अपने घर में ही एक छोटा सा घाट बना लिया है और वह सूर्य को इसी घाट से अर्ध देती है।

छठ के आने से पूर्व ही इसकी तैयारियां शुरू हो जाती है और छठ गीत बजाने शुरू कर दिए जाते हैं। यहां छठ का इतना महत्व है कि सभी लोग इसके प्रभाव में पूरी आस्था से इसका अनुसरण करते हैं। नीता के प्रति बताया कि उन्हें अपने बच्चों के भारतीय संस्कार को लेकर बहुत चिंता है इसीलिए वह सारे भारतीय संस्कार अपने बच्चों में जीवित रखना चाहते हैं जिससे कि आने वाली जो पीढ़ी है वह इसको जीवित रख सके। कनाडा की राजधानी ओटावा में रहने वाली गायत्री जो कि बेतिया गांव से है बीते 20 वर्षों से पूरे विधि-विधान और धार्मिक पवित्रता के साथ छठ के व्रत करती हैं। छठ के इस पावन त्यौहार पर गायत्री जी का पूरा परिवार शामिल होता है और पूरी पवित्रता के साथ इस त्यौहार को पूर्ण करता है।

nipen das

Author at Viralsandesh and Editor in Viral News Media

Leave a Comment