सोशल मीडिया पर AMU के मुस्लिम छात्रों ने की आडवाणी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट

दरअसल, अयोध्या पर आए फैसले के बाद पुलिस का जोर 6 दिसंबर पर शांति बनाए रखने का था। वही अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रों ने सोशल मीडिया पर पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को विवादित ढांचे से जोड़ते हुए आपत्तिजनक फोटो पोस्ट किया था। बाबरी मस्जिद विध्वंस से संबंधित एक आपत्तिजनक सोशल मीडिया पोस्ट को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की तस्वीर के साथ शेयर करने के लिए अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के 2 छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। तल्हा मन्नान और शरजील उस्मानी के खिलाफ भाजपा युवा मोर्चा जिला प्रभारी प्रतीक चौहान द्वारा एक शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है।

जैसे ही सोशल मीडिया पर आडवाणी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर भारतीय युवा मोर्चा जिला प्रवक्ता प्रतीक चौहान को पता लगा वह पोस्ट शेयर करने वाले AMU छात्रों के खिलाफ रिपोर्ट लिखाने सिविल लाइन थाने पहुंच गए। प्रतीक ने SSP आकाश कुल्हरी को भी इसकी सूचना दी। सूचना पर ACM द्वितीय रंजीत सिंह सिविल लाइंस थाने पहुंच गए। रंजीत सिंह ने बताया कि AMU छात्र शरजील उस्मानी व तल्हा अशरफ के खिलाफ फेसबुक पर आडवाणी की आपत्तिजनक पोस्ट शेयर करने पर मुकदमा दर्ज किया गया। अनिल समानिया, सर्कल ऑफिसर सिविल लाइंस ने कहा कि मन्नान और उस्मानी पर IPC की धारा 153 – A (धर्म, जाति के आधार पर विभिन्न समूह के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) और IT Act एक्ट की धारा 67 (इलेक्ट्रॉनिक फोरम में आपत्तिजनक सामग्री का प्रकाशन या प्रसारण) के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच की जा रही है।

AMU के कैनेडी लोन में मीटिंग को लेकर ACM रंजीत सिंह व CO सिविल लाइन अनिल समानिया पहुंच गए। देर शाम तक फोर्स तैनात रही। प्रतिबंध के बाद भी विश्व हिंदू परिषद ने अचलताल कार्यालय पर हवन किया। मन्नान MA एजुकेशन का छात्र है जबकि उस्मानी यूनिवर्सिटी का पूर्व छात्र है। रजिस्टार अब्दुल हमीद का कहना है कि,” कैंपस में किसी तरह की मीटिंग नहीं हुई पूरे दिन प्रॉक्टोरियल टीम सतर्क रही। कैंपस का माहौल खराब नहीं होने दिया जाएगा।” ADM City राकेश नीलमणि का कहना है कि,” हवन पर विश्व हिंदू परिषद के शौर्य दिवस मनाने की खबर मिली है जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।”

Leave a Comment