Categories: देश

बीजेपी पर बरसे केजरीवाल "हमारे बच्चों को नौकरी नहीं मिल रही, पर सरकार को पाकिस्तान की हो रही फिक्र"

एक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में पहुंचे केजरीवाल ने नागरिकता (संशोधन) कानून को ‘गंदा’ कानून करार दिया। उन्होंने कहा, “पता नहीं क्यों इस कानून को लेकर आए ये लोग पूरे देश में आग लगी पड़ी है।” दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने नागरिकता (संशोधन) कानून पर मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि देश के लोगों को नौकरी नहीं मिल रही है लेकिन सरकार को पाकिस्तानियों की फिक्र पड़ी है। उन्होंने कहा, “देश में 70% लोगों के पास दस्तावेज नहीं है। अमीर पैसे देकर बनवा लेंगे। नोटबंदी में अमीर नहीं, गरीब फंसे थे। बाहरी लोगों को नौकरी कौन देगा? जिसके फायदे के लिए नागरिकता कानून लाया गया है। इस कानून की क्या आवश्यकता थी?

सरकार को इस कानून को वापस लेना चाहिए। सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को बुलाकर देश में महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर बात करनी चाहिए।” दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी और सीलमपुर में हिंसक प्रदर्शन हुए। इस दौरान भीड़ को काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले भी दागे गए। वहीं जामिया में पुलिस ने छात्रों पर कड़ी कार्यवाही की। अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में हो रही हिंसा को लेकर चिंता जाहिर की और कहा कि हिंसा का रास्ता गलत है।

इस कानून में अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण 31 दिसंबर 2014 तक भारत आए गैर मुस्लिम शरणार्थी हिंदू, मुस्लिम, सिक्ख, बौद्ध, जैन, पारसी समुदाय के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है। वहीं सरकार ने कानून को लेकर छात्रों के विरोध के पीछे तमाम तरह के फैलाएं भ्रम को जिम्मेदार ठहराते हुए बुधवार को कहा कि इससे छात्रों को डरने की कोई जरूरत नहीं है। सरकार ने स्पष्ट किया कि यह नागरिकता देने वाला कानून है, नागरिकता लेने वाला नहीं। इसलिए इससे घुसपैठियों को अवश्य ही चिंता करने की जरूरत है।

Leave a Comment