Categories: बॉलीवुड

फॉरेंसिक लैबोरेट्री से ली करण जौहर ने क्लीन चिट, क्या अब भी मिल पायेगा सुशांत को न्याय

बॉलीवुड निर्देशक करण जौहर जिनका एक वीडियो कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था और उस वीडियो में दिखाई दे रहे सभी लोग मा-दक पदार्थ का सेवन कर रहे है, ऐसा आरोप था। खबर आ रही है कि बॉलीवुड निर्माता करण जौहर के घर में 2019 में जो पार्टी हुई थी उसको लेकर सुशांत के फैंस द्वारा नारकोटिक्स डिपार्टमेंट से सोशल मीडिया के माध्यम से यह अपील की गई थी कि पार्टी में अमा-नक पदार्थ का उपयोग हुआ है। जिसके बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने इस वीडियो को लेकर अपनी जांच शुरू की थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 2019 के इस पार्टी वीडियो को फॉरेंसिक साइंस लैबोरेट्री ने क्लीन चिट दी है। लेबोरेटरी का कहना है कि जो भी आरोप इस वीडियो को लेकर लगाए गए थे उनका कोई आधार नहीं है जांच में ऐसा कुछ भी प्राप्त नहीं हुआ है। लेबोरेटरी की रिपोर्ट के अनुसार वीडियो में कुछ भी गलत नहीं है और पार्टी में किसी भी तरह का मा-दक पदार्थ का उपयोग नहीं किया गया है।

वीडियो में नहीं दिखा कुछ गलत

फॉरेंसिक साइंस लैबोरेट्री के अधिकारियों ने बताया कि वीडियो में दिख रही जिस वाइट लाइन को लेकर उन्होंने जांच प्रारंभ की थी वह ट्यूबलाइट का रिफ्लेक्शन हो सकती है। उनकी टीम को किसी भी प्रकार का कोई सबूत नहीं मिला है जो यह बताता हो कि फिल्म स्टार्स द्वारा पार्टी में मा-दक पदार्थ का उपयोग किया गया था। एफएसएल ने बताया कि वीडियो में किसी भी प्रकार का मा-दक पदार्थ या हानि-कारक सामान दिखाई ही नहीं दे रहा है तो किसी भी प्रकार की कार्यवाही का सवाल ही नहीं उठता।

हम सभी ने ये वीडियो देखा होगा जिसमें बॉलीवुड फिल्म निर्देशक करण जौहर ने अपने घर पर दी गई पार्टी का वीडियो इंस्टाग्राम पर शेयर किया था। हालांकि यह वीडियो 2019 का था लेकिन सुशांत मामले में इस वीडियो के ऊपर भी जांच हुई, क्योंकि इस वीडियो में बॉलीवुड के वो चेहरे भी शामिल थे। जिनसे सुशांत मामले में पूछताछ की गई थी। एफएसएल का कहना है कि यह वीडियो गलत कारणों के साथ वायरल किया गया और बॉलीवुड फिल्म निर्माता करण जौहर पर आरोप लगाए गए कि उन्होंने बॉलीवुड स्टार्स को ड्र’ ग्स उपलब्ध कराएं।

विकास सिंह ने उठाई थी आवाज़

एनसीपी के रडार में आने के बाद करण जौहर ने इस वीडियो को लेकर स्पष्टीकरण दिया था कि उनके द्वारा दी गई पार्टी में किसी भी प्रकार के अमा-नक पदार्थ का उपयोग नहीं किया गया है। उनका कहना था कि सुशांत सिंह राजपूत मामले में उनके इस वीडियो को जानबूझकर वायरल किया गया और उनको जबरदस्ती इस केस में फ़-साने का पूरा प्रयास किया गया। जिसके बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने इस वीडियो को लेकर अपनी जांच शुरू की थी।

आप सभी को बता दें करण जोहर इस वीडियो को लेकर पहले ही एक स्टेटमेंट जारी कर चुके हैं। अपने स्टेटमेंट में करण जौहर ने यह कहा था कि कुछ समाचार चैनलों, प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया तथा सोशल मीडिया गैंग ने यह गलत खबर चलवाई थी कि करण जौहर ने 28 जुलाई 2019 को एक पार्टी दी थी। जिसमें उन्होंने सभी को अमा-नक पदार्थों का से-वन करवाया था। मैं करण जोहर 2019 में ही आप सभी को बता चुका था कि उपरोक्त कही गई बातें पूरी तरीके से बेबुनियाद हैं। वीडियो को देखकर जो आरोप लगाए गए थे ऐसा कुछ भी नहीं है।

सुशांत सिंह मामले में किसी भी तरीके से मेरे ऊपर आरोप लगाने के लिए इस वीडियो को दोबारा सोशल मीडिया पर वायरल किया गया लेकिन मैं आप सभी को फिर से यह बताना चाहता हूं कि लगाए गए सारे आरोप बेबुनियाद हैं जिनका कोई पुख्ता सबूत नहीं है। दी गई पार्टी में किसी भी तरह के गलत पदार्थों का प्रयोग ना हुआ था और ना होता है।

sushant singh

Author at Viralsandesh and Editor in Viral News Media

Leave a Comment