Categories: देश

रेलवे शुरू करेगा गरीब रथ जैसा नया AC क्लास! किराया भी नहीं होगा ज्‍यादा

भारतीय रेलवे गरीब रथ जैसी एसी ट्रेनें चलाने की योजना पर काम कर रही है.

भारतीय रेलवे (Indian Railways) कोरोना संकट के मद्देनजर यात्री सुविधाओं (Passenger Amenities) में इजाफा करने के लिए हरसंभव कदम उठा रहा है. इसी के तहत नया एसी क्‍लास शुरू करने की कवायद चल रही है.

चंदन जजवाड़े

नई दिल्‍ली. भारतीय रेल (Indian Railways) ट्रेनों में सफर के लिए एक नया एसी क्लास (New AC Class) बनाने पर विचार कर रहा है. सूत्रों के मुताबिक, इसके लिए थर्ड एसी इकोनॉमी क्लास (3rd AC Economy Class) शुरू करने की योजना बनाई जा रही है. इसका मकसद रेलवे में एसी क्लास के सफर को सस्ता (Affoardable Fare) बनाना है. रेलवे की कोशिश है कि यह क्लास उसके लिए भी किफायती हो. इसके लिए 3rd AC इकोनॉमी क्लास को लेकर कई तरह के प्रयोग की योजना बनाई जा रही है.

एक में ज्‍यादा यात्रियों को दी जाएगी जगह, कूलिंग भी रहेगी कम
इस नए क्लास में ज्‍यादा सीटें रखी जाएंगी ताकि कम किराये की भरपाई एक कोच में ज्यादा सवारियों को जगह देकर की जा सके. इसके अलावा 3rd AC इकोनॉमी क्लास में एसी की कूलिंग कम रखी जाएगी, ताकि बिजली की खपत कम हो और मुसाफिरों को कंबल की जरूरत न पड़े. रेलवे आम एसी क्लास में जो कंबल और लिनन मुहैया कराता है, उसके लिए मुसाफिरों से 22 रुपये वसूले जाते हैं, जबकि रेलवे का इस पर 55 रुपये का खर्च आता है. थर्ड एसी इकोनॉमी क्‍लास में रेलवे को इस रकम की सीधी बचत होगी.ये भी पढ़ें- PNB का खास ऑफर! 31 दिसंबर तक मिल रहा है सस्ते में Home और Car Loan लेने का मौका

लालू प्रसाद ने रेल मंत्री रहते शुरू की थीं एसी ट्रेनें ‘गरीब रथ’
लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) ने रेल मंत्री रहते हुए इसी सिद्धांत पर गरीब रथ ट्रेनों की शुरुआत की थी. गरीब रथ का भी मकसद सस्ती दर पर एसी सुविधा वाली ट्रेन यात्रा मुहैया कराना था. शुरू में गरीब रथ ट्रेनों में साइड सीट पर भी तीन लोगों के सोने की बर्थ दी गई थी. बाद में ममता बनर्जी के रेल मंत्री रहने के दौरान इसे मुसाफिरों के लिए तकलीफ देने वाली सीट बताया गया. फिर ज्‍यादातर गरीब रथ ट्रेनों की साइड सीट से एक बर्थ हटा दी गई थी. फिर ये आम AC के डब्बों की तरह रह गया.

ये भी पढ़ें :- Nestle India ने युवाओं की तरफ बढ़ाया हाथ, अपना बिजनेस शुरू करने में ऐसे करेगी मदद

थर्ड एसी से ही रेलवे को होता है करीब 35 फीसदी फायदा
पिछली सरकार के दौरान गरीब रथ ट्रेनों के कोच के निर्माण को बंद करा दिया गया. गरीब रथ ट्रेनों के बंद होने की खबरें भी आती रहीं. अब रेलवे एक बार फिर अपनी तरह की नई गरीब रथ ट्रेन शुरू करने की योजना बना रहा है. रेलवे में फिलहाल AC1, AC2, AC3 कोच होते हैं. भले ही रेलवे कुल यात्री किराये में सब्सिडी देता है, लेकिन आंकड़ों के मुताबिक, रेलवे को केवल AC3 कोच से ही करीब 35 फीसदी का फायदा होता है. इसलिए रेलवे के पास इस क्लास के सफर में नए प्रयोग की संभावना दिखती है.


hindi.news18.com

Leave a Comment