Categories: Uncategorized

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने अर्नब से कहा- ‘रिया का व्यवहार और आचरण शुरू से ही संदिंग्ध’

सुशांत सिंह राजपूत केस की मुख्य आरोपी रिया चक्रवती की गिरफ्तारी के बाद बिहार पुलिस महानिदेशक (DGP) गुप्तेश्वर पांडे ने रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के एडटिर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि अर्नब मैं शुरू से ही कहता रहा हूं कि रिया चक्रवर्ती से मेरी व्यक्तिगत लड़ाई नहीं है। जैसे आप सुशांत के लिए आप खड़े हैं।वैसे मैं भी हूं। मुझे शुरू से ही रिया चक्रवर्ती संदिग्ध लग रही है।  

गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि ‘हमनें तो यहां कानूनी रूप से काम किया, यहां पर एफआईआर दर्ज किया। यहां से अपनी टीम मुंबई भेजी। टीम की क्या हालात हुई आपने देखा था। तो आपने बुलंदी के साथ आवाज उठाया और आपके साथ 130 करोड़ की आवाम जुड़ी। हीरो तो असली आप हैं। आपको बधाई हो।

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि ‘मैं तो शुरू से ही कहता रहा हूं कि रिया चक्रवर्ती का व्यवहार और आचरण संदिंग्ध है। ये पूरा देश जानता है अर्नब इसमें छिपाने वाली बात क्या है। रिया चक्रवर्ती भारत के गृह मंत्री से ट्वीट कर कहती है कि सीबीआई इस मामले की जांच करे। हम यहां से बिहार पुलिस भेजते हैं, हम उनको अपील करते हैं, खोजते हैं, संदेश देते हैं कि आप आकर अपनी बात हमारे सामने भी कह दीजिए। हमें भी कुछ पूछताछ का मौका दे दीजिए, तो गायब हो जाती है। अपने वकील से कहलवाती है कि हम भागे नहीं है, हम छिपे नहीं हैं, हम निर्दोष हैं। सीबीआई जांच की मांग खुद करती है बिहार पुलिस जाती है तो भाग जाती है।’ 

डीजीपी ने आगे कहा कि जब केस सीबीआई के पास चला जाता है तो वह सुप्रीम कोर्ट पहुंच जाती है और वहां जाकर कहती है ‘नो बिहार पुलिस, नो सीबीआई, सिर्फ मुंबई पुलिस।’ अब इससे ज्यादा संदिग्ध क्या होगा। मैं शुरू से ही इस बात को कहता रहा हूं कि वह संदिग्ध है।’

उन्होंने कहा कि ‘अर्नब एक बात बताइए सुशांत सिंह की 14 जून को कथित हत्या या आत्महत्या होती है, उसके एक हफ्ते बाद ही मीडिया में साधारण हत्या बताकर मामले को खत्म कर दिया जाता है। वो तो जब एक सप्ताह बाद पटना में एफआईआर दर्ज होती है और मैं बिहार पुलिस को वहां भेजता हूं और आप इस मुद्दे को उठाते हैं उसके बाद यह मामला उभर कर सामने आता है।’

उन्होंने कहा कि ‘हमारे यहां पर रिया के खिलाफ जो मामले दर्ज हुआ था, उसमें वह अभियुक्त हैं। किसी भी अभियुक्त को संवैधानिक पद पर बैठे लोगों के खिलाफ नहीं बोल सकती है।’ गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि ‘रिया उतनी सीधी नहीं हैं जितना लोग दिखाते हैं यह प्यार की सजा नहीं मिली है। यह नारकोटिक्स और ड्रग में जो डूबी हुई थी उसकी सजा मिली है। सुशांत केस के बारे में पूरा देश जानना चाहता है। लोग मुझे ट्रोल कर रहे हैं गाली दे रहे हैं। इस लड़ाई को आप लड़ें हम लड़ें। जबतक इसका फैसला नहीं होता है तबतक हम सब लड़ेंगे।’

इसे भी पढ़ें: शिवसेना की ‘चुनौती’ पर मुंबई के लिए रवाना हुईं कंगना रनौत , कहा- ‘अभी कुछ नहीं बोलूंगी’

इसे भी पढ़ें: कंगना रनौत को BMC का नोटिस, ‘नहीं रोका काम तो ऑफिस पर होगी बड़ी कार्रवाई’



bharat.republicworld.com

Leave a Comment