Categories: देश

पप्पू यादव ने CM नीतीश की वर्चुअल रैली को बताया फ्लॉप, कहा- जनता के सामने जाने की हिम्मत नहीं Patna News in Hindi

जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव ने नीतीश कुमार की वर्चुअल रैली को नाकामयाब करार दिया है (फाइल फोटो)

पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने कहा कि सरकारी तंत्र और करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी लोगों ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को नहीं सुना. बिहार की जनता बाढ़ और कोरोना से तबाह हैं और नीतीश कुमार वर्चुवल रैली (Nitish Kumar Virtual Rally) कर रहे हैं. यह बिहार की जनता के साथ मजाक है. इस बार चुनाव में राज्य की जनता नीतीश कुमार को सबक सिखाएगी

पटना. जन अधिकार पार्टी (JAP) के अध्यक्ष पप्पू यादव (Pappu Yadav) ने जनता दल युनाइटेड के अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) पर हमला बोलते हुए कहा कि उनकी वर्चुअल रैली (Virtual Rally) असफल रही है. जनता नीतीश मॉडल को पूरी तरह नकार चुकी है. जिनमें जनता के सामने जाने की हिम्मत नहीं वो कैमरे के पीछे ही छिपेंगे. पप्पू यादव ने सोमवार को नीतीश कुमार द्वारा आयोजित वर्चुअल रैली पर निशाना साधते हुए कहा कि जनता उनके तथाकथित सुशासन को पहले ही नकार चुकी है, और अब तो उनके पार्टी कार्यकर्ताओं में भी हताशा का माहौल दिखाई दे रहा है.

पप्पू यादव ने कहा कि सरकारी तंत्र और करोड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी लोगों ने नीतीश कुमार को नहीं सुना. बिहार की जनता बाढ़ और कोरोना से तबाह हैं और नीतीश कुमार वर्चुवल रैली कर रहे हैं. यह बिहार की जनता के साथ मजाक है. इस बार चुनाव में बिहार की जनता नीतीश कुमार को सबक सिखाएगी.

‘शराबबंदी और अपराध पर बोलने का कोई अधिकार नहीं’

पूर्व सांसद ने कहा कि नीतीश कुमार को शराबबंदी और अपराध पर बोलने का कोई अधिकार नहीं हैं. बिहार का बच्चा-बच्चा जानता है कि राज्य में कैसी शराबबंदी है. गली-गली में शराब मिलता है लेकिन सरकार कहती है कि बिहार में शराबबंदी हैं. राज्य में कानून-व्यवस्था के नाम की कोई चीज नहीं रह गई है. यहां माफियाराज है. रोजगार नहीं हैं और शिक्षा व्यवस्था का बुरा हाल है.

सोमवार को जनता दल युनाइटेड की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

वर्चुअल रैली के बारे में पप्पू यादव ने कहा कि जिनमें जनता के सामने जाने की हिम्मत नहीं वो कैमरे के पीछे छिपेंगे ही. पप्पू यादव ने कहा कि वो लगातार राज्य में यात्राएं करते रहे हैं और सत्ताधारी दलों की कोरोना संकट काल में गायब रहने की अदा का जनता इस बार अपने वोट से जवाब देगी. उन्होंने कहा कि निश्चय संवाद में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी तमाम विफलताओं को सफलता के झूठे आंकड़ों में पेश कर बिहार की जनता को फिर से झांसे में लाने प्रयास किया है. बिहार की जनता ने पूरी तरह से उनको परख लिया है और उचित जवाब देगी. (धर्मेंद्र कुमार की रिपोर्ट)


hindi.news18.com

Leave a Comment