Categories: देश

दिल्ली दंगों में हत्या का आरोपी गिरफ्तार, इसे पिछले 6 महीने से तलाश रही थी क्राइम ब्रांच Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली पुलिस की एसआईटी ने दिल्ली दंगों के एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है.

दिल्ली पुलिस (Delhi police) की क्राइम ब्रांच की एसआईटी (SIT) ने मुस्तकीम समीर सैफी नाम के एक युवक को गिरफ्तार किया है. समीर सैफी के पास से पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त हथियार भी बरामद किया है.

नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi police) की क्राइम ब्रांच की एसआईटी (SIT) ने मुस्तकीम समीर सैफी नाम के एक युवक को गिरफ्तार किया है. बता दें कि समीर सैफी नार्थ ईस्ट दंगा (North East Riot) मामले में एक लाख का इनाम था. समीर सैफी ने इसी साल 24 फरवरी को दिल्ली के शिव विहार टी-पॉइंट के नजदीक राजधानी पब्लिक स्कूल के पास राहुल सोलंकी नाम के एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

इसकी पहचान के बाद इस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था. इस घटना में 6 आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. क्राइम ब्रांच ने मुस्तकीम को भजनपुरा मजार के पास से गिरफ्तार किया है. मुस्तकीम से अपराध के समय पहने गए कपड़े, जींस पैंट, जूते और हेलमेट भी बरामद किए गए हैं. जांच के दौरान यह भी पता चला है कि आरोपी मुस्तकीम शुरू से ही फारुकिया मस्जिद के पास CAA / NRC के विरोध में भाग ले रहा था. फिलहाल आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. आपको बता दें कि फरवरी के महीने में नागरिकता संशोधन कानून और जनसंख्या रजिस्टर (CAA-NRC) के खिलाफ दिल्ली में धरना-प्रदर्शन हो रहे थे. लेकिन इन्हीं धरनों ने 27 परवरी को दंगों का रूप ले लिया. इन दंगों मं 52 लोगों को जान चली गई थी.

कैसे लगी थी राहुल सोलंकी को गोली
शिव विहार इलाके में एक समुदाय के दंगाइयों ने राहुल सोलंकी को गोली मार दी थी. गोली चलाने वाले की पहचान बताने पर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के मुताबिक उस दिन राहुल सोलंकी किसी काम से अपने घर से निकला था. तभी एक समुदाय के लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी और तभी भीड़ की तरफ से किसी ने गोली चला दी जो राहुल के सीने पर जा लगी. राहुल को जीटीबी अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था.जब मामले की की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई तो पुलिस ने एक वीडियों के आधार पर 7 लोगों को गिरफ्तार किया था. लेकिन इस भीड़ में गोली चला रहे मुख्य आरोपी की पुलिस पहचान नहीं कर पा रही थी. इसी के चलते पुलिस ने मुख्य आरोपी की पहचान बताने वाले पर 1 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की थी.

मुखबिर की सूचना के बाद हुई सैफी की गिरफ्तारी
दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के मुताबिक, इस मामले में एक क्राइम ब्रांच ने सैकड़ों लोगों से पूछताछ की. लेकिन हेलमेट पहने होने के चलते कोई भी शख्स दंगे के वायरल वीडियो में मुस्तकीम सैफी को पहचान नहीं पा रहा था. इस मामले में पुलिस ने 7 अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़कड़डूमा अदालत में चार्जशीट भी फाइल कर दी थी.

6 महीने बाद क्राइम ब्रांच को कामयाबी
आखिरकार करीब 6 महीने बाद क्राइम ब्रांच को कामयाबी मिली है. मुखबिर ने पुलिस को बताया कि मुस्तकीम सैफी वह शख्स हो सकता है जिसकी पुलिस तलाश कर रही है. पुलिस ने जब इसे हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो इसने अपना गुनाह कुबूल कर लिया. पुलिस के मुताबिक मुस्तकीम सैफी पेशे से कारपेंटर है. पुलिस ने उसके पास से वारदात में इस्तेमाल हथियार भी बरामद कर लिया है.

ये भी पढ़ें- Dengue: 10 हफ्ते, सुबह 10 बजे, 10 मिनट तक करिए ये काम, CM केजरीवाल ने दिया मंत्र


hindi.news18.com

Leave a Comment