Categories: देश

आप प्रवक्ता का योगी सरकार पर गंभीर आरोप, बोले यूपी में ब्राम्हाणों के ऊपर हो रहा है अत्याचार Delhi-Ncr News in Hindi

नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी(AAP) के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार और यूपी पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने ने कहा कि योगी सरकार और यूपी पुलिस(UP Police) दोनों ही आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) की आवाज को दबाने का प्रयास कर रही है.

उन्होंने कहा कि इसीलिए यूपी पुलिस ने राज्यसभा सांसद संजय सिंह घंटों डिटेन करके रखा. तीन बार विधायक रहे निरवेंद्र मिश्रा (73) की लखीमपुर खीरी में जमीन विवाद में पुलिस की मौजूदगी में पीट-पीट कर हत्या कर दी गई. इसके बाद आप नेता संजय सिंह मृतक विधायक के परिवार से मिलने उनके घर गए थे. वहां से लौटने के दौरान एएसपी ने संजय सिंह को बिना कारण, बिना नोटिस और बिना वारंट के सीतापुर के अटरिया गेस्ट हाउस में तीन घंटे तक डिटेन करके रखा.

संजय सिंह ठाकुर समाज से हैं और इसके बावजूद वो लगातार आवाज उठा रहे हैं कि योगी सरकार में ठाकुर समाज को छोड़कर, बाकी समाज के साथ अत्याचार और पक्षपात किया जा रहा है. सौरभ भारद्वाज ने कहा कि उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण होना सबसे बड़ा अपराध हो गया है. हर दूसरे दिन मरने वाला आदमी मिश्रा, दुबे, पांडेय और शर्मा और वाजपेयी होता है.

ब्राह्मणों और दलितों पर हो रहा अत्याचारआप प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि इससे भी गंभीर बात यह है कि योगी जी के राज में उत्तर प्रदेश में ब्राह्मणों और दलितों को लगातार अत्याचार झेलना पड़ रहा है. उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण होना सबसे बड़ा अपराध हो गया है. हर दूसरे दिन मरने वाला आदमी मिश्रा, दुबे, पांडेय, शर्मा, वाजपेयी होता है. उत्तर प्रदेश में कल एक ऐसी घटना हुई है, जिसे सुनकर आप दहल जाएंगे, उत्तर प्रदेश में दिनदहाड़े तीन बार विधायक रहे निरवेंद्र मिश्रा (73) की पुलिस के सामने ही लाठियों से पीट-पीट कर हत्या कर दी गई. सीओ खुद आकर विधायक की हत्या करने वाले आरोपियों को मारपीट कर छुड़ा ले गए.

ये भी पढ़ें- बदमाशों ने दिल्ली की लड़की को बिहार ले जाकर सवा लाख में बेचा, दिल्ली महिला आयोग ने किया रेस्क्यू

सौरभ भारद्वाज ने विधायक निरवेंद्र मिश्रा के बेटे की एक वीडियो मीडिया को दिखाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में इस हद तक हालात खराब हैं कि तीन बार विधायक रहे नरेंद्र मिश्रा का एक जमीन का विवाद था, अदालत में केस चल रहा था, पुलिस की मौजूदगी में उनको लाठियों से पीटकर मारा गया. जिन लोगों ने उन्हें पीट कर मारा और जो लोग अपराधी थे, उनको गांव वालों ने पकड़ कर बंद कर दिया. इसके बाद वहीं के पुलिस सीओ कुलदीप कुकरेती जो खुद अपराधियों को छुड़ाने के लिए इनके घर आए और उनकी मां और पत्नी को पीट-पीट कर अपराधियों को छुड़ा कर ले गए. यह घटना उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में कल हुई हैं, जबकि कहा जाता है कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ जी सुशासन चला रहे हैं.

लोगों में डर का माहौल है
सौरभ भारद्वाज ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लोगों को इतना डराया गया है कि कोई आवाज उठाने के लिए तैयार नहीं है. सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मृतक के परिवार वालों से मिलने आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा के सांसद संजय सिंह लखीमपुर खीरी गए थे. वहां से लौट रहे तभी उनको रास्ते में पुलिस ने रोका लिया. एएसपी एएन सिंह ने संजय सिंह जी को अटरिया, सीतापुर के गेस्ट हाउस में डिटेन किया. संजय सिंह जी की जुबान को बंद करने के लिए उनके ऊपर अलग-अलग थानों में अब तक 13 जगहों पर मुकदमें दर्ज कराए गए हैं.


hindi.news18.com

Leave a Comment